क्यों है HRTC देश की सबसे बेहतरीन बस सेवा

Date: 13 May 2017

सड़कें पहाड़ी राज्य हिमाचल प्रदेश की जीवन रेखाएं हैं. रेल और हवाई परिवहन की पर्याप्त सेवाएं न होने कारण यातायात का पूरा बोझ सड़क परिवहन पर ही है. इन जीवन रेखाओं को जीवंत रखने में सबसे अहम् योगदान है हिमाचल पथ परिवहन निगम (HRTC) का. आईये पढ़ते हैं कि क्यों है HRTC देश की सबसे बेहतरीन बस सेवा.


1958 में मंडी-कुल्लू परिवहन नाम से स्थापित हुई, हिमाचल पथ परिवहन निगम का 2600  से अधिक बसों का बेड़ा आज प्रदेश के कोने कोने में अपनी सेवाएं उपलब्ध करवाता है. सड़कें कैसी भी हो, पूरी हो या आधी अधूरी हो, दिन हो रात हो और कितनी भी दूरी हो, कैसा भी मौसम हो, बारिश हो या बर्फ HRTC आपको आपकी मंज़िल तक पहुंचाने में हमेशा तत्पर है.

HRTC online ticket booking सेवा उपलब्ध करवाने वाली देश कि पहली परिवहन निगम है और अभी HRTC ने android ऍप भी लांच कि जिसकी सहायता से आसानी से टिकट बुक कि जा सकती हैं. जल्दी ही HRTC प्रदेश भर में 25 इलेक्ट्रिक बसें चलने जा रहा है जिसका सफल परीक्षण किया जा चुका है. ऐसा करने वाला हिमाचल देश का पहला पहाड़ी राज्य होगा.

आखिर हिमाचल  परिवहन की ताकत क्या है, जो इसे देश की अन्य निगमों से बेहतर और सर्वश्रेष्ठ बनाती है? दूसरे राज्यों में HRTC  से बेहतर बसें हैं, हिमाचल की  अपेक्षा  बढ़िया सड़कें हैं. फिर भी HRTC देश की सबसे बेहतरीन बस सेवाओं में से एक है. ये मूल्यांकन मिलने वाली सुविधाओं के हिसाब से नहीं हैं, परन्तु परिस्थितियों के हिसाब से है. जैसी जैसी जगहों पे HRTC जनसेवाएं मुहैया  करवाती है, उन में से कई जगहों पे तो लोग जाने के ख्याल से भी कतराते हैं. लेकिन HRTC बिना रुके बिना थमे, हर रोज़ उन सड़कों पे यात्रियों, सामान इत्यादि को लाने ले जाने  का काम करती है.

'सजग साधना, सविनय सेवा' के मोटो को चरितार्थ करने में सबसे अधिक योगदान है निगम के चालकों का, जो अपनी कुशलता के लिए देश भर में प्रसिद्ध हैं. स्पीति, किन्नौर, चम्बा, डोडरा क्वार जैसे क्षेत्रों में बसें पहुंचाने के लिए हौसला चाहिए जो इन इनमे कूट कूट कर भरा है.चाहे दिन हो या रात, 10 से 12  घंटे बिना रुके बस चलना इन लोगों के लिए आम बात है. दिल्ली से लेह HRTC का सबसे लम्बा रुट है जिसमे कि 33 घंटे में 1072 कि. मी. का सफर तय करके गंतव्य तक पहुंचा जा सकता है.

आये दिन हमें भी इन चालकों की कुशलता और  बहादुरी  के किस्से सुनने को मिलते रहते हैं. हल ही में स्वारघाट के पास बस की ब्रेक फ़ैल होने पर बड़ी बहादुरी और सूझबूझ  से बड़ा हादसा होने से बचा लिया. ऐसा एक किस्सा पालमपुर के ठाकुद्वारा के पास हुआ जब HRTC की एक बस में आग लग लग गयी थी. वहां भी चालक की सूझबूझ ही काम आयी और कई जाने बच गयी.

यहां हम कुछ ऐसी ही वीडियो और फोटो लेकर आये हैं जो दर्शाती हैं कि HRTC चालक किन किन परिस्थितियों और कैसी कैसी जगहों पे  बसें चलाते हैं.

चम्बा से किलाड़ जाती एक बस एक नाले को पार करती हुई.

स्पीति में केलांग डिपो की बस उबड़ खाबड़ रास्ते पर.



कुल्लू डिपो की बस तेज बहाव नाले को पार करते हुए.



रिकांगपियो डिपो की बस से फिल्माई गयी इस वीडियो में संकरी सड़क पे दूसरी बस तथा अन्य वाहनों को पास देते हुए देखा जा सकता है.



हाल ही में Himalayan Roads, यूट्यूब चैनल ने एक  वीडियो बनाई गई. जिसमे स्पीति से 4500 mtr  की ऊंचाई पर स्थित लांगजा गांव तक के सफर को दर्शाया गया. इन संकरे और खतरनाक मोड़ वाली सड़कों पर गाडी चलाते समय कितनी मुश्किलें आती हैं और चालक कैसे दिमाग ठंडा रख के इन रास्तों पे बस चलते हैं, ये कहानी बयां कि बस चालक बलराज सोनी और परिचालक मोहिंदर पाल ने. देखें वीडियो.



इसके अलावा इन फोटो में देखिये कैसे खतरनाक रास्तों से गुजरती हैं हमारी हिमाचल परिवहन  की  बसें!!















हमारी टीम की और से हम उन सभी चालकों और परिचालकों को सलाम करते हैं जो दिन रात हर परिस्थिति में हमें हमारी मंज़िल तक पहुंचाते हैं. ये चालक असल मायने में खतरों के खिलाडी है.

Videos and images are taken from Himachal Transport Facebook page. Respective owners holds all the copyrights to these items.



Comment using Facebook Account


HITESH BHARTI

HRTC VALA KO MARA SLAM

krishan kumar

Himachal ki shaan hai Hrtc ....

Post a Comment

Your Name*

Email*

Comment